Friday, January 28PROUD TO BE A COOPERATOR

सहकारी आंदोलन हर वर्ग तक पहुंचने से होगा लाभ : संजय पाचपोर

गंगा क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी की सहकार सभा

धनबाद, बोकारो, राँची प्रांत बैठक एवं यशस्वी पैक्स, सामुहिक कृषी, क्रेडिट सोसायटी, स्वयंसहायता समूह के साथ बैठक सपंन हुई- संजय पाचपोर

सहकार भारती की प्रकल्प इकाई गंगा क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी ने सेक्टर 04 स्थित कार्यालय में सहकार सभा आयोजित की मात्र पर बतौर मुख्य अतिथि सहकार भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री संजय पाचपोर ने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र में संख्यात्मक व गुणात्मक विकास कर देश को परम वैभवशाली बनाना संगठन का लक्ष्य है: आम लोगों में सहकारिता के संबंध में रचि जागृत कर सेवाभावी स्वच्छ छबि वाले कर्तुत्ववान लोगोंकों इस कार्य के साथ जोड़ना ही नीति है। सहकारी आंदोलन को हर वर्ग तक पाहुचाने व सहकारी क्षेत्र में विश्वास की भावना जागृत करने से समाज को लाभ होगा।

श्री पाचपोर ने गंगा क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी की ओर से लॉकडाउन में महिला स्वावलंबन के लिए संचालित अभियान की सराहना की। सहकार भारती के जिलाध्यक्ष डॉ. परमेश्वर लाल वर्णवाल ने संगठन की और से संचालित कार्य की जानकारी दी।

समारंभ का संचालन सहकार भारती झारखंड प्रदेश कार्यसमिति सदस्य देव नारायण सुधांशु ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन डॉ भगवान पाठक ने किया। इस दौरान डॉ सत्यदेव तिवारी, डॉ भगवान पाठक, रामानुज प्रसाद, उषा श्रीवास्तव, डॉ बी पांडेय, जवाहर संचालित कार्य को जानकारी दी. संचालन प्रसाद लक्ष्मण, रामटहल सिंह, राजकुमारी देवी. कृष्णा देवी व अन्य मौजूद थे।

1 Comment

  • DEO NARAYAN SUDHANSHU

    *प्रेस विज्ञप्ति*
    *अंतरराष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर परिचर्चा*

    आज दिन 03-07-2021 को सहकार भारती, बोकारो के तत्वाधान में सहकार भारती की प्रकल्प इकाई *गंगा क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड* के द्वारा अंतरराष्ट्रीय सहकारिता दिवस के अवसर पर एक ऑनलाइन परिचर्चा का आयोजन किया गया । जिसका विषय था “कोविड के दौरान सहकारी संस्थाओं की भूमिका”
    इस अवसर पर सहकार भारती झारखंड प्रदेश उपाध्यक्ष प्रो परमेश्वर लाल बर्णवाल ने अपने संबोधन में कहा कि आज की वैश्विक अर्थव्यवस्था एवं सामाजिक – आर्थिक क्षेत्र में कोविड के कारण जो चुनौतियां आई हैं उसे अवसर में बदलने का एक अवसर सहकार है । यह भारतीय जीवन दर्शन एवं आर्थिक क्रियाओं का एक महत्वपूर्ण माध्यम है।
    सहकार समुन्नति का बेहतर साधन है ।

    गंगा क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी के अध्यक्ष एवं बी•एस• सिटी कॉलेज में हिंदी के विभाग अध्यक्ष प्रो भगवान पाठक ने इस कोविड के दौरान एवं बाद में समाज के पिछड़े , छोटे व्यवसायी , महिलाओं आदि का आर्थिक स्वावलंबन हेतु गंग क्रेडिट कोआपरेटिव द्वारा किये गए कार्यों को विस्तार से रखा। उन्होंने लोगों से आह्वन किया कि संस्था से ईमानदार एवं सेवाभावी लोग ईमानदारी पूर्वक जुडें एवं सहकारिता का लाभ उठाएं।

    इस परिचर्चा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक डॉ सत्यदेव तिवारी ने कहा की कोविड के दौरान सहकारी संस्थाओं की भूमिका अधिक बढ़ गई है। हमें सस्ती वस्तुएं लोगों तक पहुंचनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कहा गया है *”संघे शक्ति कलियुगे”* जब एक ध्येय, एक लक्ष्य एवं एक विचार को लेकर अग्रसर होते हैं तो बड़ी बड़ी शक्तियां घुटने टेक देती है । हम सभी आसानी से कोविड से उत्पन्न परिस्तिथियों से निजात पा सकते हैं ।
    परिचर्चा को हरिश्चंद्र प्रासाद बर्णवाल , डॉ रामानुज प्रसाद ने भी संबोधित किया ।
    इस वेबिनार में संतोष चौधरी, अधिवक्ता जवाहर प्रसाद, उषा श्रीवास्तव, सर्वेश चौधरी , कंचन देवी, आशा देवी, संजय कुमार, अविनाश कुमार, चंदन कुमार, दिपक कुमार एवं अन्य मुख्य रूप से वेबिनार में जुड़े थे।

    समस्त परिचर्चा का संचालन सहकार भारती झारखंड प्रदेश के क्रेडिट कोआपरेटिव सह प्रमुख देव नारायण सुधांशु ने किया।
    कार्यक्रम का सुभारम्भ सहकार गीत एवं समापन शांति मन्त्र से हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *